ऑनलाइन उपस्थिति क्यूँ अनिवार्य है, और इसके क्या लाभ हैं?

ऑनलाइन उपस्थिति क्यूँ अनिवार्य है, और इसके क्या लाभ हैं?

मेरी पिछली पोस्ट में मैंने ऑनलाइन उपस्थिति क्या है, इसके बारे में विस्तार पूर्वक बताया है, उसी श्रंखला में यह पोस्ट है, जिसमें ऑनलाइन उपस्थिति क्यूँ अनिवार्य है, और इसके क्या लाभ हैं? के साथ साथ कुछ और बुनियादी बातें व्यापार और पेशे के सञ्चालन, वृद्धि और लाभदायकता बनाये रखने के सम्बन्ध में ध्यान रखने और अंगीकार करने योग्य हैं,

जो इस प्रकार हैं, यह जानकारी मेरे 36 वर्षों के अनुभव, निरीक्षण और प्रयोगों का निष्कर्ष है।

कुछ बेहद बुनियादी बातें व्यापार और पेशे सञ्चालन के सम्बन्ध में हर व्यक्ति को ध्यान रखनी चाहिए, इनको समझे और अपने कार्य और जीवन में उतारे बगैर वो कभी भी किसी भी व्यापार, उद्योग और पेशे में सफलता पूर्वक और लम्बे समय तक विकसित होते और लाभ कमाते नहीं रह सकेंगे।

ऑनलाइन उपस्थिति क्यूँ अनिवार्य है, और इसके क्या लाभ हैं?
व्यवसाय और पेशे से सम्बंधित सार्वत्रिक जरुरी नियम, हर काल समय और स्थिति में सत्य है –
  1. व्यवसाय की प्रगति और उन्नति के लिए आपके ग्राहकों में निरंतर वृद्धि होना आवश्यक है, साथ ही नियमित ग्राहकों का संतुष्ट और व्यवसाय के प्रति सकारात्मक रवैय्या होना अनिवार्य है।
  2. आपके व्यवसाय, उत्पाद और सेवाओं के संबन्ध में समुचित जानकारी आपके वर्तमान और संभावित ग्राहकों तक पहुँचाने के लिए नियमित रूप से आवश्यक प्रचार और प्रसार करना आवश्यक है, प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष माध्यमों से, आज के समय में ऑनलाइन माध्यम, सबसे सटीक, सुरक्षित, प्रभावी और सस्ते हैं।
  3. आपको अपने ग्राहकों की पसंद, नापसंद, उत्पाद/सेवा सम्बन्धी समस्याओं, अपेक्षाओं और आवश्यकता के सम्बन्ध में पर्याप्त जानकारी होनी चाहिए।
  4. आपके उत्पाद और सेवाएं ग्राहकों को उनकी सुविधानुसार, उचित मूल्य पर और उचित तरीके से और उनके उपयोग के स्थान तक पहुँचाने की सुविधा उपलब्ध होनी चाहिए।
  5. आपके उत्पाद और सेवाएं बेहतर गुणवत्ता, उचित मूल्य और प्रतियोगियों से बेहतर या समकक्ष होनी चाहिए, और ग्राहकों को आपसे जुड़े रहने के लिए प्रोत्साहित करनेवाले होना चाहिए।
  6. आपको अपने ग्राहक को अपने उत्पाद और सेवाओं के सम्बन्ध में सभी आवश्यक जानकारी और जरुरी सुझाव प्रदान किये जाने चाहिए, ताकि उन्हें अधिकतम संतुष्टि और लाभ प्राप्त हो सके।
  7. आपके ग्राहक निरंतर आपके संपर्क में रहने और पुनः क्रय करने के लिए उत्सुक और तत्पर होने चाहिए, इसकी व्यवस्था भी आपको करनी है, जागरूकता, छूट, उपहार, ऑफर, निशुल्क सेवाएं, इसके लिए आपकी अपनी वेबसाइट, ऑनलाइन ग्रुप, सोशल मीडिया पेज आदि बेहद सहायक हैं।
  8. आपके व्यवसाय/पेशे उत्पाद और सेवाओं से सम्बंधित नयी तकनीकों, उपयोग के नए तरीकों का समय समय पर आपके व्यापार/पेशे में समावेश, उपयोग और ग्राहकों को इस सम्बन्ध में जानकारी की उपलब्धता।
  9. आपके व्यवसाय को सभी आधुनिक डिजिटल भुगतान पद्धितियों, इन्वेंटरी सिस्टम और पैकेजिंग और डिलीवरी सिस्टम से युक्त होना आवश्यक है, ताकि ग्राहक आपके साथ व्यवहार करने में सुविधा, सुरक्षा और विश्वास से युक्त हो सके, वर्ना वह ज्यादा सुविधा संपन्न ऑनलाइन स्टोर्स या माल से ही उत्पाद और सेवाएं क्रय करने में उत्सुक रहेगा।
  10. आपके संस्थान/पेशे को ग्राहक के लिए बेहतर बिक्री उपरांत सुविधा, समस्या और संदेह निवारण की व्यवस्था से युक्त होना चाहिए।
  11. आपको वर्तमान टेक्नोलॉजी, अर्थव्यवस्था और बाज़ार में आपके व्यवसाय, सेवाओं, उत्पादों के सम्बन्ध में ऑनलाइन जानकारी उपलब्ध होनी चाहिए, अन्यथा आप बाज़ार से बाहर हो जायेंगे या बेहद सीमित लोगों और स्थानों तक आपकी पहुँच और व्यापार बना रहेगा और आप आपके स्मार्ट प्रतियोगियों से मात खाते रहेंगे और बेहद दुर्बल स्थिति में पहुँच जाएंगे।
  12. आपको व्यापार और व्यवसाय सिर्फ बीती हुई पीढ़ी के साथ नहीं वर्तमान और आगामी पीढ़ी के साथ करना है, उनकी सोच, पसंद और सुविधा और मार्किट ट्रेंड को ध्यान में रखते हुए अपने व्यवसाय का ढांचा, और स्वरुप निर्मित कीजिये वरना आप आउटडेटेड और अस्वीकृत हो जायेंगे।

यह सभी छोटे बड़े, व्यापारियों/पेशेवरो/उद्यमियों के लिए बेहद जरुरी और अपरिहार्य नियम और व्यवस्थाएं हैं जो आज स्थापित, संचालित हुए हैं, या पूर्व के समय से संचालित और स्थापित व्यवसाय/पेशे, ये सभी के लिए परम आवश्यक हैं, इनकी अवहेलना करके कोई भी व्यापार/पेशा गति, प्रगति और बाज़ार में लम्बे समय तक कार्यरत नहीं रह सकेगा।

यह मेरे 36 वर्षों के निरीक्षण, परीक्षण, अवलोकन और अनुभव पर आधारित सत्य है, कुछ बेहद जरुरी बातें है, जिनका जिक्र यहाँ कर रहा हूँ जिन्हें मैंने यहाँ व्यापार/पेशे से जुड़े लोगों के पिछड़ने और उनके ग्राहकों की संख्या में कमी और व्यापार  के गिरते स्तर के लिए जिम्मेदार पाया हैं – 

ऑनलाइन उपस्थिति क्यूँ अनिवार्य है, और इसके क्या लाभ हैं?
आज के व्यवसायियों की समस्याओं की जिम्मेदार प्रमुख बातें – 
  • ऑनलाइन उपस्थिति निर्मित करने के सम्बन्ध में अज्ञानता और उपेक्षा का भाव

मैंने इस सम्बन्ध में बहुत खोज और निरीक्षण किया और पाया की यह हर पीढ़ी में होने वाली समस्या है, जब समाज और व्यवस्था एक कर्न्तिकारी बदलाव और कार्य करने के नए स्वरुप और व्यवस्था को अंगीकार करने की और अग्रसर होते हैं तो लोग उसके प्रति अरुचि और अस्वीकार दिखाते हैं।

वो जीवन के सबसे बड़े नियम जरुरी परिवर्तन को स्वीकार करने के नियम को अनदेखा करने की कोशिश करते हैं और दीर्घकालीन नुकसान उठाते हैं और समय के साथ न चलने की वजह से अपने से बहुत छोटे लेकिन प्रगतिशील लोगों से बहुत पीछे छूट जाते हैं।

आप देखिये आपका व्यापार/पेशा और व्यापार सञ्चालन के तरीकों में इनमें से कितनी बातों का नियमित उपयोग किया जा रहा है, और क्या अमल में लाने की जरुरत है, इन्हें अस्वीकृत और इनकार मत कीजिये वरना काफी लाभों को पाने से वंचित रह जायेंगे।

और ऑनलाइन उपस्थिति निर्मित करना उन बदलावों में सर्वोपरि है, इसकी अवहेलना आपको निश्चित रूप से अपने व्यवसाय और क्षेत्र में आगे बढ़ने में सहायक नहीं होने वाली है, अतः इसकी और ध्यान दीजिये और आज ही इस सम्बन्ध में जरुरी कदम उठाइए।

ऑनलाइन उपस्थिति क्यूँ अनिवार्य है, और इसके क्या लाभ हैं?

  • विकास और उन्नति के अवरोध पुरातन और परम्परागत सोच –

सभी परंपरागत और गैर आधुनिक साधनों, संसाधनों का व्यापार और पेशे में उपयोग करनेवाले सभी मित्रों की मुखर एवं मौन अभिव्यक्तियों में यह प्रश्न दिखता है – हमें इसकी क्या जरुरत है? हमारा काम काज तो अच्छा चल रहा है? हम जो काम/धंधा करते हैं, उसका इससे क्या लेना देना हो सकता है? हम क्या करेंगे ऑनलाइन उपस्थिति निर्मित करके?

इसके अलावा वो सोचते हैं, और कुछ सज्जन पूछते भी हैं –  हमें इससे कैसे और क्या लाभ हो सकता है? ऐसे बहुत सारे सवाल उनके जेहन में कौंधते हैं, और वो मुझे प्रश्नवाचक और संदेह पूर्ण दृष्टि से भी देखते हैं, पता नहीं यह व्यक्ति हमसे क्या करवाना चाहते हैं, हम इस सब में नहीं पड़ना चाह्ते, हमको इस सब झमेले से क्या लेना देना हो सकता है?

वो सभी महानुभाव ऑनलाइन उपस्थिति के महत्त्व और उसकी उपयोगिता के सम्बन्ध में कुछ भी नहीं जानते, ऐसा वो सोचते हैं।

लेकिन वो बहुत सारी ऑनलाइन सुविधाओं का अपने दैनिक जीवन व्यवहार में उपयोग कर रहे होते हैं, लेकिन जब यह उनके अपने कार्य या व्यवसाय के सम्बन्ध में किया जाना हो तो वो सोच में पड़ जाते हैं, है न मजेदार बात।

यह सभी महानुभाव दूसरे उद्योगों, व्यवसाय और पेशेवरों की ऑनलाइन उपस्थिति के कारण ही उनसे जुड़े हैं और खुद के संबन्ध में यही करने की बात करने पर सवाल उठाते हैं?

ऑनलाइन उपस्थिति क्यूँ अनिवार्य है, और इसके क्या लाभ हैं?
आप के जीवन में ऑनलाइन एक्टिविटी और प्रोसेस का प्रभुत्व 
  • आपके के जीवन में ऑनलाइन एक्टिविटी का दखल –

आप हर सुबह समाचार मोबाइल पर ऑनलाइन देखते हैं, क्रिकेट का मैच और स्कोर देखते हैं, अपने घरेलु गैस की बुकिंग ऑनलाइन करते हैं, ट्रैफिक किस एरिया में नहीं है, मौसम की जानकारी, रेलवे, मूवी टिकट बुक करते हैं, Google Map  का उपयोग किसी स्थान या लोकेशन को देखने, विभिन्न बातों की जानकारी लेने, अपने बच्चों और युवकों के एग्जाम फॉर्म, एडमिशन फॉर्म और न जाने कितनी सारी सुविधायें घर बैठे ऑनलाइन उपलब्ध कर पा रहे हैं।

इसके अलावा रोजाना के कितने कार्य जैसे अपने विद्युत और अन्य बिल व मोबाइल रिचार्ज का भुगतान मोबाइल से करते हैं, अपने जरुरत के सामान को ऑनलाइन स्टोर अमेज़न, फ्लिपकार्ट और अन्य स्थानों से घर बैठे आर्डर देकर मंगवाते हैं।

वो अपने सभी सामान्य और कीमती सामान की खरीददारी करने से पूर्व उसकी कीमत, गुणवत्ता, अन्य उत्पादों के साथ उनका तुलनात्मक अध्ययन एवं अन्य उपभोक्ताओं के अनुभव आधारित रिव्यु को पढने के बाद ही अपने लोकल मार्केट या ऑनलाइन शॉप्स से ही खरीद करते हैं और ऑनलाइन ही भुगतान करते हैं।

You tube, Google पर न जाने कितनी सारी बातों को वो खुद, उनके बच्चे, गृहणियां जान और सीख रहें हैं, अपने शहर या किसी भी शहर में किसी भी उत्पाद या सेवा के सम्बन्ध में जानकारी लेनी हो आपकी उँगलियों पर उपलब्ध है, आपको टैक्सी चाहिए, होटल बुक करना है, घर बैठे खाना मंगवाना है, अपने या दूसरे शहर में कोई वस्तु, सुविधा या स्थान कहाँ पर है, उस तक कैसे पहुंचा जाये, कितना व्यय करना होगा आदि सब कुछ आपकी उँगलियों पर उपलब्ध है।

ऐसा क्या है जो आपको ऑनलाइन उपलब्ध नहीं है, फिर भी अपने व्यवसाय की ऑनलाइन उपस्थिति निर्मित करने से इनकार है, है न मजे की बात।

ऑनलाइन उपस्थिति क्यूँ अनिवार्य है, और इसके क्या लाभ हैं?

  • आज की दुनिया में आप ऑनलाइन हैं मतलब आप अस्तित्व में हैं –

आज की व्यस्त और तेज रफ़्तार जिन्दगी और बढ़ते हुए शहरों की वजह से एक शहर के अंदर ही एक कोने में आप हैं तो दुसरे कोने में कोई क्या कर रहा है इसके बारे में पता करना आसान नहीं है, इसलिए लोग जरुरत पड़ने पर सबसे पहले ऑनलाइन ही सर्च करते हैं, इसकी वजह है की लोग जानते हैं की ऑनलाइन सबकुछ मिल सकता है।

लेकिन आप ऑनलाइन नहीं होंगे तो कोई आपके बारे में नहीं जान पायेगा, उन मुट्ठी भर लोगों के अलावा जिन्हें आप जानते हैं या जिनसे व्यवहार करते हैं, क्या यह आपके पूरे जीवन, आने वाले भविष्य, आपकी जिम्मेदारियों को पूरा करने के लिए काफी है, जबकि आपके प्रतियोगी हर संभव तरीके से लोगों तक पहुँच रहे हैं और आपके लिए व्यापार और ग्राहक बनाने और बढ़ने के मार्ग सीमित कर रहे हैं।

 क्यूंकि आज आबादी का बहुत बड़ा हिस्सा ऑनलाइन ही उत्पाद और सेवाओं को खोज रहा है, और आप वहां उपलब्ध और उपस्थित नहीं है, मतलब आप इस व्यापार/पेशे में नहीं है, एक तरह से होकर भी नहीं है, क्या आप इस तरह से मौजूद रहना चाहते हैं और संभावित और उपलब्ध लाभों से सदा वंचित रहना चाहते हैं?

ऑनलाइन उपस्थिति क्यूँ अनिवार्य है, और इसके क्या लाभ हैं?

  • व्यवसाय में भी प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष दखल –

आप सभी मित्र अपनी शॉप में आनेवाले ग्राहकों से PayTM, BhimUPI, Phonepe, Google Pay और अन्य डिजिटल पेमेंट सुविधाओं के माध्यम से भुगतान स्वीकार करते हैं और स्वयं भी दूसरों को भुगतान या फण्ड ट्रान्सफर करते हैं, फिर भी कहेंगे हमें इसकी क्या जरुरत है, है न मजेदार बात, अभी हाल ही मैंने अपने भाई की शॉप पर PayTM से भुगतान स्वीकार करना प्रारंभ करवाया, वरना ग्राहक वापिस जा रहे थे, ग्राहक कभी भी कहीं भी खरीददारी कर सकता है, डिजिटल पेमेंट सिस्टम की वजह से।

सारी दुनिया डिजिटल हो रही है, यह सभी व्यवसायी/पेशेवर मित्र, स्वयं दर्ज़नों कार्य ऑनलाइन कर रहे हैं लेकिन अपने व्यवसाय को ऑनलाइन लोकेट और उपलब्ध कराने के सम्बन्ध में सोच रहे हैं, मैंने पिछले 8 – 10 वर्षों में शायद ही कभी किसी यूटिलिटी बिल या परचेस का भुगतान नगद में किया हो, यदि वहां डिजिटल पेमेंट की सुविधा उपलब्ध हो तो, आप क्यूँ चूकना चाहते हैं?

ऑनलाइन उपस्थिति की अनिवार्यता के घटक –
  • जो दिखता है, वही बिकता है – जो ऑनलाइन हैं वही अधिकतम लाभ उठा रहे हैं

क्या आपने कभी सोचा है, आप जिन सेवाओं, वेबसाइट, उत्पादों और अन्य व्यक्तिगत और अपने कार्य सम्बन्धी जानकारी उपलब्ध कर पा रहे हैं वो आपको इसलिए मिल पा रही है क्यूंकि उन सेवा या उत्पादों के विक्रेता या प्रदायकर्ता ने उन्हें ऑनलाइन दर्ज किया है, उपलब्ध कराया है।

सोचिये, यदि उन्होंने इसे ऑनलाइन उपलब्ध नहीं कराया होता तो आप उन सभी सुविधाओं, जानकारियों और सूचनाओं तक कभी भी नहीं पहुँच पाते, और आपको यह बहुत मेहनत करने पर उपलब्ध होती वो भी आधी अधूरी और बिना जांची परखी हुई।

यही बात आपके कार्य और व्यवसाय के सम्बन्ध में सत्य है, यदि वह ऑनलाइन नहीं है तो बहुत सारे लोग कभी भी आपके बारे में नहीं जान सकेंगे, न ही आपसे कोई व्यावसायिक व्यवहार कर पाएंगे, सोचिये कितना बड़ा नुकसान आप उठा रहे हैं, और उठाते रहेंगे जब तक आप ऑनलाइन उपस्थिति दर्ज नहीं करेंगे।

  • आप को पता नहीं आपके प्रतियोगी और अन्य प्रदायकर्ता इसका लाभ उठा रहे हैं –

क्या आपको पता है आप जिस भी व्यवसाय/पेशे/सेवा से सम्बंधित हों, आपके प्रतियोगी, आप की तरह बेखबर और अनजान नहीं हैं, वो उन सभी लाभों को उठा रहे हैं, जो आप तक भी पंहुच सकते हैं, लेकिन आप को वो कभी नहीं मिलेंगे क्यूंकि आप ऑनलाइन नहीं है।

जब भी कोई उपभोक्ता आप से सम्बंधित किसी सेवा, उत्पाद और पेशे की जानकारी और अपने क्षेत्र/शहर/नजदीक के स्थान पर या अपने पडोसी शहर में खोजता है तो आप उन्हें नहीं मिलेंगे, वो कभी भी नहीं जान पाएंगे की आप का अस्तित्व भी है, जब तक वो आपके किसी परिचित या माध्यम के द्वारा आप तक न पहुंचे।

ऑनलाइन उपस्थिति क्यूँ अनिवार्य है, और इसके क्या लाभ हैं?

  • आज आपकी ऑनलाइन उपस्थिति आपकी व्यावसायिक सफलता का आधार है –

आज के समय में आपके व्यापार और प्रोफेशन की सफलता और वृद्धि आपकी ऑनलाइन उपस्थिति पर काफी हद तक निर्भर है – आप एक अच्छे टीचर, इलेक्ट्रीशियन, डॉक्टर, इंजिनियर, मेडिकल शॉप, डेकोरेटर, कैटरर, कांट्रेक्टर, डिज़ाइनर, क्राफ्टमेकर, होटल, रेस्तरां के मालिक या अन्य किसी प्रकार के उद्यम. व्यापार, पेशे के संचालक हैं।

आप एक नए या परंपरागत दुकानदार हैं, कोई व्यावसायिक/व्यक्तिगत सेवा प्रदाता हैं, किसी विशेष कला या हुनर में पारंगत हैं, आप किसी कार्य या विधा में विशिष्टता प्राप्त हैं, जैसे डांस, म्यूजिक, स्पोर्ट्स, योग, और यह सब कुछ और लोगों को सिखाना चाहते/चाहती हैं।

आप ऑनलाइन यूटिलिटी सर्विसेज प्रदान करते हैं, आप जो भी करते हैं, करना चाहते हैं उसके बारे में लोगों तक जानकारी और सूचना पहुंचाइये, और इसमें हम आपकी पूरी मदद करने के लिए यहाँ प्रस्तुत हैं।

  • आप सफल होना चाहते हैं या नहीं?

अपने आप से पूछिए,  क्या आप सक्षम, कुशल और प्रोफेशनल होने के बावजूद भी गुमशुदा और अज्ञात रहना चाहते हैं और एक कुशल और बेहतर सेवा प्रदाता, पेशेवर और व्यवसायी की सेवाओं से बहुसंख्य उपभोक्ताओं को वंचित रखना चाहते हैं

यह न आपके हित में है न उनके हित में, इसलिए बिना देरी किये अपने कार्य, व्यवसाय, फर्म को ऑनलाइन स्थापित कीजिये, अपनी जानकारी, सेवाएं, उत्पाद, संपर्क, गुणवत्ता और सेवा शुल्क, उत्पादों के मूल्यों को लोगों के साथ साझा कीजिये और उन्हें आपकी सेवाओं और उत्पादों का लाभ लेने दीजिये।

अपने समाज और लोगों के साथ अपनी गुणवत्ता और सक्षमता को साझा कीजिये और उनसे लाभ लीजिये, अपने कार्य, सेवाओं और संतुष्ट और गुणी ग्राहकों की संख्या में वृद्धि कीजिये, अपने व्यवसाय/पेशे को अधिक विस्तार, लाभ पाने में समर्थ कीजिये और अपने कार्यक्षेत्र में अपना प्रभुत्व और पहचान बनाइये।

हम इसमें आपकी मदद करने के लिए प्रस्तुत हैं, यह एक वास्तविकता है और आप इसे अपने लिए सच कर सकते हैं, बस आपके एक छोटे से कदम उठाने से यह प्रारंभ हो सकता है, तो देर किस बात की जो आज नहीं हो सकता वो कभी नहीं होगा, आज से अच्छा और बेहतर समय कोई नहीं कभी भी जरुरी और बेहद लाभकारी कार्य को शुरू करने का।

ऑनलाइन उपस्थिति क्यूँ अनिवार्य है, और इसके क्या लाभ हैं?

सफलता के नए प्रतिमान स्थापित कीजिये ऑनलाइन उपस्थिति दर्ज कीजिये –

एक बेहद जरुरु बात को याद रखिये, वर्तमान में आप जो भी करते हैं उसे आपके परिचित लोग, सीमित ग्राहकों और आपकी लोकेलिटी और एरिया के अलावा कोई भी नहीं जानता और यदि आपने इसे प्रकाशित और प्रचारित नहीं किया तो बहुत लोग कभी जान भी नहीं पाएंगे।

क्यूंकि आप कभी भी अपने सीमित दायरे और कार्य क्षेत्र  के बाहर किसी से इस तरह से गुप्त और सीमित रहकर जुड़ नहीं पाएंगे और न ही लोग आपके बारे में, आपके काम के बारे में कुछ भी जान पाएंगे की आप कितने काबिल, सक्षम और प्रोफेशनल सेवाएं और उत्पाद बेहतर क्वालिटी और कीमत पर उपलब्ध कराने में सक्षम हैं।

इसका बहुत आसान और बेहद किफायती समाधान उपलब्ध है और सारी दुनिया आपके टैलेंट, आपके किये हुए कार्य, आपकी कुशलता और आपकी उपलब्धियों और आपके संतुष्ट ग्राहकों और आपकी व्यवसाय, उत्पाद, सेवाओं और हुनर के बारे में जान कर आपसे जुड़ सकती है।

आपको बिना कुछ ज्यादा प्रयास के अपने स्थान पर बैठे बैठे लोगों से संपर्क करने की सुविधा मिल सकती है, क्या आप इसके लिए तैयार हैं, तो हमारे साथ जुड़िये, हम आपको इन सभी लाभों को प्राप्त करने में सक्षम बनाए की दिशा में अग्रसर करने के लिए ही यहाँ उपस्थित हैं।

तो आइये हम मिलकर इसे संभव बनायें, आपकी सक्षमता, हुनर, उपलब्धियों, विशिष्टता और काबिलियत, कार्य, उत्पाद, सेवाओं और गुणवत्ता को सारी दुनिया तक पहुँचाने का मार्ग बनायें, आपकी ऑनलाइन उपस्थिति निर्मित करें और सारी दुनिया से जुड़ें।